बारिश कब होगी अब

सावन की पहली बारिश कब होगी अब 

(नवीन निश्चल)

बारिश कब होगी अब gallery of words

 

सावन की पहली बारिश कब होगी अब ? यह ही सवाल हर साल सावन के आने से पहले हम सभी के मन में आ जाता है। ये कविता हैं उस ऋतु की जिसका इंतजार इंसान से लेकर पशु पक्षियों को भी बेहद होता है जिसको सावन कहते है।  सावन में शंकर भगवान यानी शिव जी को पूजा जाता हैं जिसको लोग सावन की पूजा भी केहेते हैं, लोग बड़े धूम धाम और सज धज के यह पूजा करते हैं। जिस जिस धार्मिक स्थानियो पे ज्योतिर्लिंग होता हैं वहां बौहत ही खूसूरत मेला लगता हैं। इसी सावन के महीने में कजरी गाया जाता हैं और व्यवाहिक औरतें हरियाली तीज करती हैं। इस सावन के महीने में हज़ारों श्रद्धालु कावड़ लेके जाते हैं। सावन के मौसम को प्यार का प्रतीक भी माना जाता हैं।

 

 

वो ठंडी चलती हवाएं

उनमें इस मिट्टी की सौंधी सी ख़ुशबू हैं,

पंछियों का चेह चहाना

उन कलियों का खिलना हैं,

ये सावन की पहेली बारिश का यू ही आजाना हैं।

प्रकृति का ये मुस्कुराना

उन बूंदों का ठहरना हैं,

मोर का नाचना

बच्चो का इनमें भींगना हैं,

ये सावन की पहेली बारिश का यू ही आजाना हैं।

ये खुशियों की ख्वाहिश

उस फलक का दिलकश नज़ारा हैं,

ये सावन की पहेली बारिश का यू ही आजाना हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll Up